Connect with us

nagpur samachar

एनसीसीएल के गोविंद पसारी अध्यक्ष, तरूण निर्बाण सचिव

Published

on

नागपुर. नागपुर चेंबर ऑफ कॉमर्स की 85वीं वार्षिक आमसभा बुधवार को सेवासदन चौक, सेंटल एवेन्यु स्थित चेंबर के सभागृह में संपन्न हुई। इस मौके पर सभासदों की भारी उपस्थिति में चुनाव संपन्न हुए। मुख्य चुनाव अधिकारी श्री. एड. आलोक डागा और चुनाव अधिकारी सीए श्री. संदीप जोतवानी की निगरानी में चुनाव संपन्न हुए इस चुनाव में गोविंद पसारी अध्यक्ष, तरुण निर्बाण सचिव चुने गये व अन्य पदों के प्रदीप जाजू वरिष्ठ उपाध्यक्ष, विजय जयस्वाल उपाध्यक्ष, वसंत पालीवाल कोषाध्यक्ष, विवेक मुरारका व विपीन पनपालीया सहसचिव पद के लिए निर्विरोध निर्वाचित हुए, श्री. कैलाश जोगानी निवर्तमान अध्यक्ष रहेंगे। संचालक मंडल में नितिन बंसल, पुरुषोत्तम ठाकरे, शंकरलाल खंडेलवाल, नाथाभाई पटेल, देवकीनंदन खंडेलवाल, संजय पांडे, कमल कलंत्री, वासुदेव झामनानी, लक्ष्मीकांत अग्रवाल, प्रशांत जग्यासी, राजेष गोयल, प्रमोद अग्रवाल, वेणूगोपाल अग्रवाल, निखिल काकाणी, संजय नारके, जेरीन वर्गीस, गिरीश लिलडिया, मनोज बागडी  निर्वाचित हुए।

                 

नवनिर्वाचित अध्यक्ष गोविंद पसारी ने अपने संबोधन में सभी व्यापारियों तथा चेंबर के सदस्यों को उनकी नियुक्ति पर धन्यवाद दिया और नागपुर की खस्ता सड़कों तथा बढ़ते अतिक्रमण पर भी चिंता जताई और कहा कि अब समय आ गया है कि मेट्रो तथा विभिन्न विकास कार्य को जल्द पूर्ण किया जाए। उन्होंने व्यापारियों को नई टेक्नोलॉजी उपयोग करने के लिये कहा।उन्होंने कहा कि व्यापारी भी एक नागरीक तथा उपभोक्ता है, इसलिए हर अनैतिक कार्य से बचना चाहिए। उन्होंने नागपुर के सभी व्यापारियों से आग्रह किया कि नागपुर चेंबर व्यापारियों की हर समस्यों के निवारण के लिए प्रतिबध्द है।  इस अवसर पर चेंबर के पूर्व अध्यक्ष भागीरथ मुरारका ने नई टीम को अपने संबोधन में मार्गदर्शन किया व पूर्व अध्यक्ष विष्णू कुमार पचेरीवाला ने नई टीम का स्वागत किया। इस दौरान राजेंद्र चांडक, पवन अग्रवाल, रियांक अग्रवाल, बाबुभाई कादरी उपस्थित थे। सभा का संचालन विवेक मुरारका ने तथा आभार प्रदर्शन सचिव तरूण निर्बाण ने किया।

Continue Reading
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

NAGPUR

नागपुरकरों के लिए शेयर ऑटो सुविधा

Published

on

By

महामेट्रो का नए साल का तोहफा

नागपुर. अब नागपुरकरों के लिए मेट्रो स्टेशन तक पहुंचना और यात्रा के बाद गंतव्य तक पहुंचना बहुत आसान हो जाएगा। क्योंकि अब महाराष्ट्र मेट्रो रेल कॉर्पोरेशन ने यात्रियों के लिए सोमवार से शेयर ऑटोरिक्शा की व्यवस्था कर दी है। क्षेत्रीय परिवहन अधिकारी के  प्रस्ताव को हाल ही में कलेक्टर की अध्यक्षता वाली परिवहन समिति ने मंजूरी दे दी है और नए साल में महामेट्रो द्वारा यह सेवा शुरू की जाएगी। इससे मेट्रो स्टेशन तक पहुंचना और मेट्रो से यात्रा कर गंतव्य तक पहुंचना बहुत सुविधाजनक हो जाएगा। यह नागपुर के लोगों के लिए नए साल का उपहार होगा। महामेट्रो नए साल में यात्रियों के लिए शेयर ऑटो सेवा शुरू करने के लिए पूरी तरह तैयार है।

Continue Reading

nagpur samachar

कांग्रेस MLA सुनील केदार को झटका

Published

on

By

बैंक घोटाले में 5 साल की सजा, 21 साल बाद आया फैसला

नागपुर. पूर्व मंत्री व कांग्रेस नेता सुनील केदार की मुश्किलें और बढ़ गईं हैं। बहुचर्चित नागपुर जिला बैंक घोटाला मामले में कोर्ट का फैसला आ गया है। नागपुर की विशेष अदालत ने कांग्रेस विधायक सुनील केदार और पांच अन्य को दोषी ठहराया है। जबकि सबूतों के अभाव में तीन अन्य को बरी कर दिया है। इस मामले में केदार को 5 साल की सजा सुनाई गई है। साथ ही 12.50 लाख रुपये का जुर्माना भी लगा है। नागपुर जिला केंद्रीय सहकारी बैंक (एनडीसीसीबी) घोटाला मामलों की सुनवाई कर रही विशेष अदालत ने शुक्रवार को सावनेर से कांग्रेस विधायक सुनील केदार को 150 करोड़ रुपये के घोटाले में दोषी ठहराया है। घोटाले के अन्य आरोपियों को भी सजा सुनाई गई है। महाविकास अघाडी (एमवीए) सरकार में मंत्री रहे सुनील केदार से जुड़े इस मामले में दो दशक से अधिक समय बाद फैसला आया है।

केदार समेत 11 आरोपी थे मौजूद

 

अतिरिक्त सत्र न्यायाधीश ज्योति पेखले-पुरकर की अदालत में दोषियों को सजा सुनाई गई। सुनवाई के दौरान केदार के अलावा अन्य आरोपी भी अदालत में मौजूद थे। जांच एजेंसी की चार्जशीट में केदार और 11 अन्य आरोपियों पर आईपीसी की धारा 406, 409, 468, 471, 120-बी और 34 के तहत आरोप लगाए गए थे। आरोपियों में बैंक के पूर्व महाप्रबंधक अशोक चौधरी, तत्कालीन मुख्य अकाउंटेंट सुरेश पेशकर, महेंद्र अग्रवाल, श्रीप्रकाश पोद्दार, सुबोध भंडारी, कानन मेवावाला, नंदकिशोर त्रिवेदी, अमित वर्मा और मुंबई के स्टॉकब्रोकर केतन सेठ शामिल हैं। हालांकि बॉम्बे हाईकोर्ट ने अग्रवाल के मामले पर रोक लगाई थी, जबकि मेवावाला फरार है।

क्या है मामला

2002 में जब 150 करोड़ रुपये का घोटाला सामने आया था तब कांग्रेस नेता बैंक के अध्यक्ष थे। सीआईडी के तत्कालीन उपाधीक्षक किशोर बेले इस घोटाले के जांच अधिकारी हैं। जांच पूरी कर उन्होंने 22 नवंबर 2002 को अदालत में चार्जशीट दाखिल की थी। तभी से विभिन्न कारणों से सुनवाई पूरी नहीं हो सकी और मामला लंबित था।

Continue Reading

nagpur samachar

24 घंटे में 3.4 डिसे लुढ़का पारा

Published

on

By

विदर्भ में गोंदिया सबसे ठंडा

नागपुर. स्मार्टसिटी में कड़ाके की ठंड पड़ रही है। पूरे विदर्भ में सबसे ठंडे शहरों में नागपुर तीसरे स्थान पर है जबकि गोंदिया पहले स्थान पर है ।नागपुर में पिछले 24 घंटे में न्यूनतम तापमान 3.4 डिसे लुढ़का है। मौसम विभाग के मुताबिक आने वाले 2 दिनों में 2 से 3 डिसे. पारा लुढ़क सकता है जिससे ठंड और बढ़ेगी। मंगलवार को गोंदिया में न्यूनतम तापमान 9 डिसे, यवतमाल में 9.1 और नागपुर में 9.8 डिसे दर्ज किया गया है। विदर्भ के सभी शहरों के न्यूनतम तापमान में गिरावट दर्ज की गई है।

कहां, कितनी ठंड

शहर      न्यूनतम तापमान

गोंदिया             9.0

यवतमाल           9.1 

 नागपुर              9.4

 वाशिम            10.0 

 चंद्रपुर              11.0

  वर्धा                 11.4

 अमरावती        12.5

बुलढाणा           12.8

अकोला             13.5

Continue Reading

Trending