Connect with us

maharashtra

‘कितनी मीठी जुबान है हिन्दी,भारत की आनबान है हिन्दी’

Published

on

 नागपुर में हिन्दी दिवस पर कवियों ने बांधा समां 

प्राईम ह्यूमन राइट्स फाउंडेशन के बैनर तले हिन्दी दिवस पर कवि सम्मेलन आयोजित किया गया। जिसमें हिन्दी सेवा से जुड़े डिजिटल, अखबार और साहित्य से जुड़े कवियों ने खासा समां बांधा। इस दौरान मौजूदा दौर की सियासत को व्यंग के रूप पेश किया गया, वहीं हिन्दी भाषा के बढ़ते दायरे पर भी अनुभव साझा किए गए।फन विद लर्न कॉन्वेंट स्कूल में आयोजित कार्यक्रम की अध्यक्षता व्यंगकार टीकाराम शाहू ‘आजाद’ ने की। उन्होंने मौजूदा राजनीतिक हालात पर कुछ इस तरह व्यंग कसा।

रस्म धांधली, रिवाज चुनाव हो गए,

भ्रष्टाचार अंगद के पांव हो गए।

आश्वासन हुए मीठे सपनों के लड्डू,

योजनाएं ख्याली पुलाव हो गए।

इसके बाद मुख्य अतिथि, डिजिटल मीडिया से जुड़े पत्रकार और शिक्षक तजिन्दर सिंह ने हिन्दी को देशभर की भाषाओं की लिंक लैंग्वेज बताया। 

पवन-धरा और माटी की बोली,

उड़ते पंछी की चहक लिए।

बताओ जरा यह कौन सी भाषा,

जो अपनेपन की महक लिए।

कार्यक़म के आयोजक तथा मंच संचालन  कर रहे सामाजिक कार्यकर्ता अब्दुल अमानी कुरैशी ने कहा कि हिन्दी भाषा मिठास लिए है, जिसमें भावनाएं, समर्पण और अपनापन का अहसास छिपा है।  

कितनी मीठी जुबान है हिन्दी,

भारत की आनबान है हिन्दी।

सरल शब्दो में कहा जाए तो,

जीवन की परिभाषा है हिन्दी।

25 वषों की कड़ी मेहनत से रामायण के संस्कृत श्लोक का हिन्दी में काव्यानुवाद करने वाले एड मुरली मनोहर व्यास का सम्मान हुआ। कार्यक्रम के आयोजक प्रकाश गोखले ने कवियों का आभार प्रकट किया। इतिहास की किताब के पन्ने पलटें तो 14 सितम्बर 1949 के दिन आजादी के बाद हिन्दी को देश की मातृभाषा से गौरवान्वित किया गया था। जिसकी याद में प्रति वर्ष 14 सितम्बर को हिन्दी दिवस के रूप में मनाया जाने लगा। संविधान के अनुच्छेद 343 में हिंदी को राजभाषा का दर्जा प्राप्त हुआ। अनुच्छेद 351 के अनुसार हिन्दी का प्रसार बढ़ाने की बात की गई थी। हिन्दी के उत्थान को हिन्दी पखवाड़ा, हिन्दी सप्ताह, हिन्दी दिवस कहा जाने लगा।

इसी क्रम मे बहुभाषी कवियों  व साहित्कारों तथा सामाजिक कार्यकर्ताओं को मानपत्र, ट्राफी, देकर सम्मानित किया  गया । वजीर कामील, जैनूद्दीन दादा,  टिकाराम शाहू,  “आजाद”, तजिदर सिंह,  प्रकाश गोखले तथा सामाजिक गतिविधियो के  लिए  गजुभाऊ कुबडे (रूग्णमित्र ),सैय्यद नाजीर अली, व हिदायत बेग,  ईरशाद खान  को सम्मानित किया गया।प्रकाश गोखले ने आभार  व्यक्त किया। कार्यक्रम में आरती गोखले,, योगेश गोखले, अलका वंजारी, रेशमा गोखले,,शुष्मा मुळे , नलिनी गावंडे, पियुष गोखले ने सहयोग किया।

Continue Reading
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Featured

महाराष्ट्र के पूर्व सीएम मनोहर जोशी का निधन

Published

on

By

जन्म : 2 दिसंबर 1937, निधन 23 फरवरी 2024

मुंबई. महाराष्ट्र के पूर्व मुख्यमंत्री और शिवसेना नेता मनोहर जोशी का  निधन हो गया है। उन्होंने रात 3 बजे हिंदुजा अस्पताल में अंतिम सांस ली। वह 86 वर्ष के थे। उन्हें गुरुवार को हार्ट अटैक के बाद हिंदुजा अस्पताल में भर्ती कराया गया था। बताया गया है कि 21 फरवरी को वह अस्वस्थ महसूस कर रहे थे, जिसके बाद उन्हें हिंदुजा अस्पताल में भर्ती कराया गया था। डॉक्टरों का कहना है कि मनोहर जोशी को दिल का दौरा पड़ा था। जानकारी के अनुसार, मनोहर जोशी का पार्थिव शरीर माटुंगा रूपारेल कॉलेज के पास स्थित उनके निवास पर सुबह 11 बजे से लेकर दोपहर दो बजे तक आखिरी दर्शन के लिए रखा जाएगा। दोपहर दो बजे के बाद उनका अंतिम संस्कार किया जाएगा।

सिविल इंजीनियर थे जोशी

2 दिसंबर 1937 को महाराष्ट्र के महाड में जन्मे जोशी ने मुंबई के प्रतिष्ठित वीरमाता जीजाबाई टेक्नोलॉजिकल इंस्टीट्यूट (वीजेटीआई) से सिविल इंजीनियरिंग में ग्रेजुएशन किया । जोशी का राजनीतिक सफर राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ में शामिल होने से शुरू हुआ और बाद में वह शिव सेना के सदस्य बने। 1980 के दशक में जोशी शिवसेना के भीतर एक प्रमुख नेता के रूप में उभरे।

बालासाहेब ठाकरे के थे खास

मनोहर जोशी हमेशा बालासाहेब ठाकरे के सबसे भरोसेमंद और करीबी नेताओं में से एक रहे हैं। यही वजह रही है कि उन्हें साल 1995 में महाराष्ट्र का मुख्यमंत्री बनाया गया। वह संसद सदस्य के रूप में भी चुने गए और 2002 से 2004 तक लोकसभा अध्यक्ष रहे।

Continue Reading

Featured

आम आदमी की कहानी है ‘व्हाट- ए- किस्मत’

Published

on

By

1 मार्च को   रिलीज होगी फिल्म

मुंबई. कॉमेडी फिल्म ‘व्हाट- ए- किस्मत’ 1 मार्च को  रिलीज के लिए तैयार है। फिल्म के हीरो युद्धवीर और हीरोइन वैष्णवी ने महाराष्ट्र खबर24 के साथ खास बातचीत में बताया कि यह एक फन फिल्म है जो एक आम आदमी की जिंदगी से जुड़ी हुई है। यह साफ-सुथरी फिल्म है। इसे परिवार के साथ देखा जा सकता है।

‘चांदनी बार’ और ‘गौर हरी दास्तां’ जैसी फिल्मों के पटकथा लेखक और राष्ट्रीय पुरस्कार से सम्मानित मोहन आज़ाद इस फिल्म के निर्देशक हैं। सीहोर के वरिष्ठ समाज सेवी अखिलेश राय, लीसा  राय और  अंशय  फिल्म के निर्माता हैं। फ़िल्म के मुख्य अभिनेता युद्धवीर दहिया, वैष्णवी पटवर्धन, कपिल शर्मा फेम श्रीकांत मस्की, आनंद मिश्रा, सीहोर की होनहार प्रतिभा रिया चौधरी, अभिषेक सक्सेना आदि हैं।

टीम सीहोर इतिहास रचने तैयार

फिल्म के प्रोडक्शन मैनेजर का कार्य और सहायक पटकथा लेखक की जिम्मेदारी सीहोर के शैलेन्द्र गोहिया ने संभाली है, जो मुंबई में कार्यरत हैं। इस फिल्म की संपूर्ण शूटिंग सीहोर में ही की गई है। फिल्म के क्रिएटिव डायरेक्टर विक्रांत भी सीहोर के ही हैं। फिल्म के कार्यकारी निदेशक शुजालपुर के अभिषेक सक्सेना हैं। यह फिल्म मध्यप्रदेश और विशेष रूप से सीहोर की फिल्म है। जिसमें सीहोर के प्रसिद्ध पर्यटक व धार्मिक स्थानों को भी दर्शाया गया है। उम्मीद की जा रही है कि फिल्म ‘व्हाट-ए-किस्मत’ सफलता के नए झंडे गाड़ेगी और सीहोर के साथ मध्यप्रदेश का भी नाम रोशन करेगी।

Continue Reading

maharashtra

सुरेंद्र पांडे ने भाजपा उत्तर भारतीय मोर्चा की लिंक लॉन्च की

Published

on

By

नागपुर. भाजपा उत्तर भारतीय मोर्चा, महाराष्ट्र व्दारा किए जा रहे कामों को लोगों तक पहुंचाने के लिए भाजपा उत्तर भारतीय मोर्चा के शहर अध्यक्ष सुरेंद्र पांडे ने एक लिंक लॉन्च की। इस अवसर पर उन्होंने कहा कि इस लिंक के माध्यम से भाजपा उत्तर भारतीय मोर्चा के प्रदेश अध्यक्ष डॉ. संजय पांडेय व्दारा विदर्भ और महाराष्ट्र में किए जा रहे महत्वपूर्ण  कार्यों  की जानकारी मिलेगी। यह लिंक उत्तरभारतीयों को अधिक से अधिक संख्या में पार्टी से जोड़ेगी। साथ ही राज्य में मोर्चा की दशा और दिशा भी तय करने में  भी मदद करेगी। उन्होंने कहा कि यह लिंक मोर्चा को आगे ले जाने में बड़ी भूमिका निभाएगी और संगठन को मजबूत बनाएगी।

Link : www.bjpubm.org  

 

Continue Reading

Trending