मार गई महंगाई : 15% महंगा हो सकता है हवाई सफर

Spread with love

नई दिल्ली. गुरुवार को हवाई यात्रियों के लिए झटका देने वाली खबर आई। जेट फ्यूल या एयर टर्बाइन फ्यूल (एटीएफ) की कीमत 16.3 %  बढ़ा दी गई हैं। यह मार्च 2022 के बाद से सबसे बड़ी बढ़ोतरी है. इसके साथ ही जेट फ्यूल का भाव नए रिकॉर्ड स्तर पर पहुंच गया है।  रिपोर्ट के मुताबिक, पिछले छह महीने में हवाई ईंधन के दाम में 91 %  तक की बढ़ोतरी हो चुकी है। इस नए बदलाव के बाद राजधानी दिल्ली में एटीएफ की कीमत 1.41 लाख रुपये प्रति किलोलीटर के रिकॉर्ड स्तर पर पहुंच गई है।

मामूली 1.3 %  की कटौती की गई थी

बता दें कि इस साल 16 मार्च को एटीएफ में सबसे ज्यादा 18.3 %  की बढ़ोतरी की गई थी। फिर एक अप्रैल को भी कीमतों में 2 %  तेजी आई। इसके अलावा 16 अप्रैल को 0.2 %  और एक मई को 3.22 %  की वृद्धि की गई थी। लगातार वृद्धि के बाद बीते एक जून को विमान ईंधन की कीमतों में मामूली 1.3 %  की कटौती की गई थी। लेकिन, अब फिर इसके दाम में आग लगी है और संभावना जताई जा रही है कि आने वाले दिनों में हवाई सफर और भी महंगा हो सकता है।

यात्री किराए पर पड़ेगा असर

गौरतलब है कि विमान संचालन में एटीएफ पर होने वाले खर्च की बड़ी हिस्सेदारी होती है, जो 40 %  के करीब है। ऐसे में इसमें इजाफे से यात्री किराए में   15%  की वृद्धि की संभावना है। एटीएफ के दाम में वृद्धि के तुरंत बाद स्पाइसजेट के सीएमडी, अजय सिंह ने कहा कि जेट ईंधन की कीमतों में तेज वृद्धि और रुपये के मूल्यह्रास ने घरेलू एयरलाइनों के पास किराये में तुरंत वृद्धि करने के अलावा कोई विकल्प नहीं है और हमारा मानना है कि किराये में न्यूनतम 10 से 15 %  की वृद्धि की तत्काल आवश्यकता है, ताकि यह सुनिश्चित हो सके कि संचालन की लागत बेहतर बनी रहे। इधर स्पाइसजेट समेत कई कंपनियों ने विमान किराये में तुरंत 15 फीसदी बढ़ाने की मांग की है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *