अमरनाथ यात्रियों पर स्टिकी बम से हमले की आशंका

Spread with love

श्रीनगर. 30 जून से अमरनाथ यात्रा शुरू हो रही है.  ये यात्रा 11 अगस्त तक चलेगी.  सुरक्षा बलों का मानना है कि ये एक नया खतरा है.  सुरक्षा बलों को चिंता है कि आतंकी इससे यात्रियों को निशाना बना सकते हैं.  इसकी वजह ये है कि पुलिस ने जम्मू जिले के सीमावर्ती इलाके में हवाई मार्ग से विस्फोटकों की तस्करी के एक नए प्रयास के तहत ड्रोन से गिराए गए तीन चुंबकीय आईईडी बरामद किए हैं.  

मंगलवार को जम्मू के अतिरिक्त पुलिस महानिदेशक (एडीजीपी) मुकेश सिंह ने बताया कि खाने के डिब्बों के अंदर पैक किए गए स्टिकी बम अखनूर सेक्टर में कानाचक के कांटोवाला-दयारन इलाके से बरामद किए.  इन आईईडी में टाइमर सेट किए गए थे.  
 

ड्रोन पर दागीं गोलियां

बीएसएफ के जवानों ने सोमवार की रात को जम्मू जिले में भारत-पाकिस्तान सीमा पर ड्रोन जैसी वस्तु की आवाज सुनकर कुछ देर के लिए गोलीबारी की.  आवाज से संदेह हुआ कि एक ड्रोन इधर-उधर उड़ रहा है.  पुलिस की एक टीम को तुरंत तैनात किया गया और उन्होंने क्षेत्र में ड्रोन रोधी मानक संचालन प्रक्रिया का पालन किया. एडीजीपी ने बताया कि रात करीब 11 बजे सुरक्षा बलों ने कानाचक के दयारन इलाके में ड्रोन देखा और उस पर फिर से गोलीबारी की.  उन्होंने कहा, ड्रोन से जुड़े पेलोड को नीचे लाया गया, लेकिन ड्रोन को गोली नहीं लग पाई.  उन्होंने बताया कि आईईडी को निष्क्रिय कर दिया गया है और इस संबंध में एक मामला दर्ज किया गया है .  

क्या हैं स्टिकी बम

मैगनेट या स्टिकी बम को को आसानी से वाहनों में चिपकाया जा सकता है और इन्हें रिमोट के जरिए दूर से भी कंट्रोल किया जा सकता है.  आतंकी इन बमों को वहनों में लगाकर आसानी से धमाका कर सकते हैं.

सुरक्षा के कड़े प्रबंध

अमरनाथ यात्रा में  करीब 3 लाख लोगों के शामिल होने की उम्मीद है.  इसे देखते हुए सुरक्षा के कड़े प्रबंध किए जा रहे हैं.  सुरक्षा बलों ने अपनी सुरक्षा रणनीति की समीक्षा करते हुए नए दिशा-निर्देश जारी कर दिए हैं.  वे अपनी मानक संचालन प्रक्रिया को बदल रहे हैं.
 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *