‘आउट ऑफ द बॉक्‍स प्रबंधन मंत्र: नितीन गडकरी, अथाह…असीम’

Spread with love

डा. विजय कुमार शर्मा की पुस्तक का आज विमोचन 

नागपुर. केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी  का जीवन, उनके लक्ष्य तथा दूरदृष्‍टी पर आधारित लेखक, अनुवादक एवं शिवायु आयुर्वेद लिमिटेड के मार्केटिंग डायरेक्टर डॉ. विजय कुमार शर्मा द्वारा लिखी ‘आउट ऑफ द बॉक्स : प्रबन्धमंत्र – नितीन गडकरी, अथाह… असीम’ मूलत: हिंदी में लिखी इस  किताब तथा उसके मराठी और अंग्रेजी संस्करण का विमोचन आज यानी  शनिवार, 7 मई को शाम 5.30 बजे होने जा रहा है ।

विदर्भ सेवा समिति, नागपुर द्वारा आयोजित यह कार्यक्रम कवि कालिदास हॉल, पर्सिस्टेंट कंपनी, आईटी पार्क में होंगा जिसमें नितिन गडकरी की प्रमुख उपस्थिति होगी । कार्यक्रम की अध्यक्षता सुप्रीम कोर्ट के सेवानिवृत्त न्यायमूर्ति विकास सिरपुरकर करेंगे । इस कार्यक्रम में नई दिल्ली के ‘दि प्रिंट’ के संस्थापक, मुख्य संपादक और लेखक शेखर गुप्ता, मुख्य अतिथि एवं पूर्व महापौर दयाशंकर तिवारी, मैनकाइंड फार्मा के सीईओ राजीव जुनेजा और नेशनल इनोवेशन फाउंडेशन, अमरपुर, गांधीनगर के निदेशक विपिन कुमार विशिष्ट अतिथि बतौर उपस्थित रहेंगे।

डॉ. विजय कुमार शर्मा द्वारा लिखी गई इस किताब से नितिन गडकरी जी के सकारात्मक ऊर्जा, दूरदर्शिता, प्रबंधन कौशल, अनुसंधान प्रवृत्ति जैसे स्व-प्रबंधन के आधुनिक सूत्रों को युवा पीढ़ी तक पहुंचाना  मुख्‍य उद्देश्य है। प्राचीन भारतीय ऋषियों और मुनियों द्वारा लिखे गए ग्रंथों के वर्णन को आधुनिक काल के प्रबंधन ग्रंथों और प्रसिद्ध मनोचिकित्सकों के सिद्धांतों से जोडने का इसमें प्रयास किया गया है । प्राचीन भारतीय दर्शन में स्व-प्रबंधन और व्यक्तित्व विकास के सूत्र नितिनजी की कार्यशैली और उनके प्रबंधन कौशल से कितने मिलते जुलते है, यह दिखाने का भी इसमें प्रयास किया गया है ।डा. शर्मा के मूलत: हिंदी में लिखे ‘आउट ऑफ द बॉक्स: प्रबन्‍धन मन्‍त्र –नितिन गडकरी, अथाह… आसिम’ इस ग्रंथ के प्रकाशक दिल्ली स्थित वाणी प्रकाशन है जबकि, इसका मराठी अनुवाद  वरिष्ठ पत्रकार एवं स्क्वेयर मीडिया सॉल्यूशंस की प्रबंध निदेशक मंजूषा जोशी और डॉ. सदानंद बोरसे द्वारा किया गया है, जिसे राजहंस प्रकाशन ने प्रकाशित किया है । ‘आउट ऑफ द बॉक्स थिंकर: नितिन गडकरी, अनफॉलोइंग द अनलिमिटेड’ यह अंग्रेजी अनुवाद वरिष्ठ पत्रकार बरखा माथुर द्वारा किया गया है और इसे क्रॉसवर्ड द्वारा प्रकाशित किया गया है। 

पत्रकार परिषद मे आनंद निर्बाण, अशोक आर. अग्रवाल, गिरधारी मंत्री, श्रीकांत दुबे, लक्ष्मीकांत काकडे, असलमभाई, तरूण निर्बाण आदि उपस्थित थे।

लेखक के बारे में

डा. विजय कुमार शर्मा ने राष्ट्रसंत तुकडोजी महाराज नागपुर विश्वविद्यालय से बीकॉम, एमए और एमफिल (हिंदी साहित्य), एमए (मराठी साहित्य) के साथ-साथ विपणन, प्रबंधन और फार्मेसी में डिप्लोमा किया है। नागपुर विश्वविद्यालय ने हाल ही उन्हें पीएचडी की डिग्री प्रदान की है। नागपुर के शिवायु आयुर्वेद लिमिटेड के विपणन निदेशक डॉ. शर्मा मानव संसाधन और प्रबंधन प्रशासन पाठ्यक्रम के प्रशिक्षक हैं। ज्ञानवर्धिनी और दिव्य दिशा फाउंडेशन के साथ-साथ अन्य व्यापारिक और औद्योगिक संगठनों से भी वे जुड़े हैं। उन्हें विक्रम मारवाह स्मृति हिंदी गौरव पुरस्कार मिल चुका है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *