राजस्थान में तोड़ा गया 300 साल पुराना मंदिर; बीजेपी भड़की, भेजी टीम

Spread with love

जयपुर. अलवर के राजगढ़ कस्बे में सड़क चौड़ी करने के नाम पर 300 साल पुराना मंदिर तोड़ दिया गया है। मामले ने तूल पकड़ लिया है। भाजपा और कांग्रेस आमने-सामने हैं।भाजपा प्रवक्ता संबित पात्रा ने कहा कि राजस्थान सरकार दिल्ली के जहांगीरपुरी मामले का बदला लेने के लिए इस तरह की हरकत कर रही है। जबकि कांग्रेस के प्रदेशाध्यक्ष गोविंद सिंह डोटासरा ने कहा कि कांग्रेस सरकार में मंदिरों के साथ कोई छेड़छाड़ नहीं की जाती। यह भाजपा का एजेंडा रहा है। वहीं भाजपा प्रदेशाध्यक्ष सतीश पूनियां ने कहा कि  भाजपा अपनी एक टीम मौके पर भेज रही है, जो तीन दिन में अपनी रिपोर्ट देगी।

क्या है मामला

दरअसल अलवर के सराय गोल चक्कर में सड़क चौड़ी करने के लिए अतिक्रमण हटाने का काम जारी है। प्रशासन का कहना है कि मास्टर प्लान के अनुसार राजगढ़ में अतिक्रमण हटाने की कार्रवाई की गई है। सालों से यहां बहुत ज्यादा अतिक्रमण हो गया था। राजस्व रिकार्ड के अनुसार यहां करीब 60 फीट का रास्ता है। यह अब 25 फीट भी नहीं बचा है। इस कारण अतिक्रमण हटाया जा रहा है। प्रशासन का कहना है कि नगर पालिका बोर्ड के स्तर पर प्रस्ताव पारित हुआ है। उसके बाद ही अतिक्रमण हटाया गया है। बता दें कि यहां की नगर पालिका में भाजपा का बोर्ड है।

रिपोर्ट हुई जारी

विवाद बढ़ने पर अलवर कलेक्टर शिवप्रसाद एम नकाते सामने आए और उन्होंने  एक रिपोर्ट जारी की। रिपोर्ट के मुताबिक, नगर पालिका बोर्ड की दूसरी बैठक में मास्टर प्लान में  8 सितंबर 2021 को अतिक्रमण हटाने का प्रस्ताव पारित किया गया था। रिपोर्ट में दावा किया गया कि हाल ही में मंदिर का  निर्माण हुआ था और यह नाले पर बनाया गया था। अतिक्रमण हटाने से पहले ही मूर्तियों को हटा दिया गया था। हटाई गई मूर्तियों की स्थापना अन्य जगह विधि-विधान से राजगढ़ नगर पालिका की ओर से की जा रही है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *